What is MicroBlogging or Micro Niche Blogging ? माइक्रो ब्लॉगिंग क्या है ?

माइक्रो निश ब्लॉग्गिंग (Micro Niche Blogging) को माइक्रो ब्लॉग्गिंग (MicroBlogging) भी कहा जाता है।

दोस्तों यदि आप एक BLOGGER हैं, और आप BLOGGING करते हैं या BLOGGING START करना चाहते हैं, तब आप ने MicroBlogging के बारे में जरूर सुना होगा आज हम इस BLOG के माध्यम से जानेंगे कि MicroBlogging क्या है? MicroBlogging के फायदे क्या होते है।

BLOGGING के क्षेत्र में काफी कंपटीशन बढ़ गया है, और ऐसे में अपने द्वारा लिखी गई किसी पोस्ट को GOOGLE में Rank करना इतना आसान नहीं होता है, क्योंकि हर एक Keyword पर पहले से ही कई सारे लोग पोस्ट PUBLISH कर चुके हैं, और बहुत से लोग अपने BLOG WEBSITE को पहले से ही RANK करा चुके हैं।

ऐसे में आप यदि माइक्रो BLOGGING START करते हैं, तब आप वहां पर किसी PARTICULAR कीवर्ड को आसानी से GOOGLE में RANK करा सकते हैं, यदि आप अच्छी तरह से उस पर्टिकुलर TOPIC से संबंधित BLOG लिखते हैं तब ऐसा होता है।

जब हम किसी NICHE को लेकर एक BLOG क्रिएट करते हैं तब आप उसमें कई सारे TOPICS को इंक्लूड करते हैं, और हम उसी से रिलेटेड ARTICLE लिखने लगते हैं, अक्सर लोग जब भी कोई BLOG क्रिएट करते हैं तब उसमें ज्यादातर TOPIC को इंक्लूड करने की कोशिश करते हैं।

क्योंकि जब हम एक बड़े स्तर पर BLOG क्रिएट करते हैं, तब उसमें हम कई सारे TOPICS पर ARTICLE लिखने में सक्षम होते हैं, इसलिए ज्यादातर लोग एक बड़ी NICHE से रिलेटेड BLOG क्रिएट करना ही पसंद करते हैं, और वहां पर हर प्रकार के ARTICLE पब्लिश करते हैं।

इसी के विपरीत यदि आप एक छोटी NICHE को टारगेट करके उससे संबंधित ARTICLE पब्लिश करते हैं, तब GOOGLE उन ARTICLE को रैंकिंग में पहले प्राथमिकता देता है, और इस प्रकार से आपके उस पार्टिकुलर TOPIC से रिलेटेड पोस्ट GOOGLE में आसानी से RANK हो जाती है और वहां से आप बहुत ही जल्दी अपने BLOG को GOOGLE में रैंकिंग प्रदान करके अच्छे खासा TRAFFIC प्राप्त कर सकते हैं और GOOGLE ADSENSE अप्रूवल लेने के बाद आप वहां से बहुत अच्छी मात्रा में पैसा भी कमा सकते हैं।

इसलिए कंपटीशन के दौर में यदि आप MICROBLOGGING START करते हैं, तब कहीं ना कहीं यह चांस ज्यादा होते हैं कि आपका BLOG GOOGLE में RANK हो जाए और आप उससे संबंधित ARTICLE पब्लिश करके ज्यादा से ज्यादा TRAFFIC प्राप्त कर लें।

आइए समझते MicroBlogging क्या है?

जब भी आप अपना BLOG या WEBSITE स्टार्ट करते हैं, तब आप वहां पर एक चीज को टारगेट करते हैं, मान लीजिये आपने एक विशिंग इमेज से संबंधित WEBSITE को क्रिएट किया है, अब अपने ब्लॉग पर आप विभिन्न प्रकार की IMAGES को लोगों तक अपने ARTICLE के रूप में पहुंचाते हैं, और इस विशिंग इमेज WEBSITE में आप हर प्रकार के विषय में IMAGES को POST कर सकते हैं जैसे गुड मॉर्निंग विशिंग इमेजेज, गुड इवनिंग विशिंग इमेजेज, गुड नाइट विशिंग इमेजेज.

यह भी जाने :- वर्डप्रेस क्या है ? | WordPress ?

इसके अलावा आप इसमें फेस्टिवल से संबंधित विशिंग इमेजेज, को भी ऐड कर सकते हैं, जैसे हैप्पी दीवाली विशिंग इमेजेज, हैप्पी होली विशिंग इमेजेज, हैप्पी ईद इमेजेज, इस प्रकार से यह एक BLOGGING का बड़ा रूप हो जाता है यहां पर यदि आप विशिंग IMAGES आपका एक NICHE है तो उससे संबंधित आप हर प्रकार की IMAGES को POST कर सकते हैं।

लेकिन इसी के विपरीत यदि हम MicroBlogging की बात करें तो हम वहां पर एक इसका एक SUB NICHE ढूंढते हैं जैसे गुड मॉर्निंग विशिंग IMAGES

अब हम यहां पर गुड मॉर्निंग से संबंधित सारी IMAGES को इंक्लूड कर सकते हैं, और उसी से संबंधित पोस्ट डालेंगे।

इसमें हम इस प्रकार की इमेजेज डाल सकते हैं, जैसे गुड मॉर्निंग विशिंग IMAGES फॉर व्हाट्सएप, गुड मॉर्निंग विशिंग IMAGES फॉर फेसबुक, गुड मॉर्निंग विशिंग IMAGES फॉर इंस्टाग्राम, इत्यादि। इस प्रकार से हम अलग-अलग गुड मॉर्निंग से संबंधित पोस्ट बना कर डाल सकते हैं, तब यहां पर हमें गुड मॉर्निंग से रिलेटेड एक DOMAIN नेम BUY करना होता है, और उसी गुड मॉर्निंग से संबंधित ARTICLE पब्लिश करने होते हैं इस प्रकार से यह हमारा एक MICRO NICHE होता है।

MICRO NICHE BLOG बनाने के फायदे

यदि आप एक MICRO NICHE से संबंधित BLOG CREATE करते हैं, तब उसके GOOGLE में RANK होने के चांस ज्यादा होते हैं, क्योंकि GOOGLE के क्राउलर्स जब भी आपके इस BLOG को VISIT करते हैं, तो आप देखेंगे कि वहां पर आप पर्टिकुलर उसे TOPIC से संबंधित ARTICLE पब्लिश करते हैं, तब उसे आपके द्वारा बनाए गए उस MICRO NICHE BLOG को RANK होने में कोई प्रॉब्लम नहीं होगी और आसानी से आपका BLOG GOOGLE में रैंक करने लगता है।

आइए एक उदाहरण से समझते हैं।

यदि हम बाजार में जाते हैं, एक मोबाइल खरीदने के लिए लेकिन हम देखते हैं कि बाजार में कई सारी दुकानें होती हैं, लेकिन हमें पता है कि मोबाइल हमें इलेक्ट्रॉनिक की शॉप पर ही मिलेगा तब हम एक इलेक्ट्रॉनिक की शॉप पर जाते हैं, जहां पर इलेक्ट्रॉनिक से संबंधित हमें कई सारे आइटम देखने को मिलते हैं और साथ ही साथ कई मोबाइल भी देखने को मिल जाते है।

इसके अलावा यदि हम डायरेक्टली मोबाइल की दुकान पर जाएंगे तब हमें वहां कई सारे मोबाइल ही मिलेंगे और हम उस SHOP पर विश्वास कर सकते हैं कि हमें यहां से मोबाइल आसानी से मिल जाएगा, उसके अलावा यदि हमारा टारगेट केवल सैमसंग ( किसी पर्टिकुलर कंपनी ) का मोबाइल खरीदना है, तब हम डायरेक्टली सैमसंग के मोबाइल के शॉप पर जाएंगे क्योंकि हमें पता है यहां पर सैमसंग के मोबाइल हमें हर प्रकार के प्राप्त हो जाते हैं।

इसी प्रकार से यदि आप भी एक MICRO NICHE पर TOPIC लिखते हैं, MICRO NICHE से रिलेटेड BLOG बनाते हैं तो उस पर्टिकुलर TOPIC से रिलेटेड इंफॉर्मेशन को लेने वाले आपके BLOG को VISIT करेंगे।

माइक्रो निश ब्लॉग Micro Niche Blog क्रिएट करने में क्या समस्या आती है ?

MICRO NICHE बनाने में भी हमें कुछ समस्याएं आती हैं, जिसको भी हमें जान लेना बहुत ही आवश्यक हो जाता है, इसी वजह से बहुत से लोग MICRO NICHE पर BLOG क्रिएट नहीं करते हैं, क्योंकि जब भी आप किसी पर्टिकुलर MICRO NICHE पर वर्क करते हैं, तब वहां पर आपको ARTICLE लिखने के लिए ज्यादा TOPICS नहीं मिलते हैं।

यह भी जाने :- ब्लॉग, ब्लॉगर, ब्लॉगिंग क्या है ? | What’s Blog, Blogger, Blogging ?

मान लीजिए आपने गुड मॉर्निंग विशिंग IMAGES से संबंधित एक BLOG क्रिएट किया है, और आप उसमे गुड मॉर्निंग विशिंग IMAGES से संबंधित ARTICLE पोस्ट करते हैं, तब एक पर्टिकुलर लिमिट तक जाने के बाद आप सोचते हैं कि अब आप इसमें ARTICLE कैसे लिखें यदि आपके अंदर के एबिलिटी है तब आप IMAGES बनाकर डेली बेस पर गुड मॉर्निंग IMAGES से संबंधित पोस्ट कर सकते हैं, लेकिन यदि आपके पास क्रिएटिविटी नहीं है तो आप सोचने पर मजबूर हो जाएंगे कि अब आपको किस प्रकार की पोस्ट करना है।

MICROBLOGGING के फायदे

MICROBLOGGING यदि आप START करते हैं, तो यहां पर MICRO NICHE BLOGGING के फायदे आपको ज्यादा देखने को मिलेंगे, क्योंकि यदि जब भी आप अपने NICHE से संबंधित ARTICLE लिखते हैं तो उसे GOOGLE में RANK होने के चांस ज्यादा होते हैं।

जब आप इसमें कम ही ARTICLE लिख पाते हैं तभी से यह GOOGLE में RANK होने लगता है, यदि उसका प्रॉपर तरीके से SEO किया गया हो, MICRO NICHE से संबंधित ARTICLE आप जल्द से जल्द रैंक कर सकते हैं क्यूंकि इसका कंपटीशन भी काफी कम होता है. इसलिए आप इस पर आसानी से ARTICLE लिखकर पब्लिश कर सकते हैं और GOOGLE में RANKING को भी जल्दी-जल्दी बढ़ा सकते हैं।

जब आप MICRO NICHE से संबंधित BLOG क्रिएट करते हैं, तब इसमें GOOGLE ADSENSE का अप्रूवल लेकर GOOGLE ADSENSE के ऐड को शो करते हैं, तब आप देखेंगे कि यहां पर आपको कम से कम समय में ज्यादा EARNING होती है क्योंकि किसी पर्टिकुलर TOPIC पर यदि आप ARTICLE लिखते हैं, तो वहां पर TRAFFIC भी ज्यादा होता है इसलिए आप वहां से ज्यादा पैसे EARN कर सकते हैं।

MICRO NICHE BLOGGING के लिए स्किल्स इंप्रूव करें

दोस्तों यदि आप एक MICRO NICHE BLOG START करना चाहते हैं, और आप चाहते हैं कि उसे GOOGLE में जल्द से जल्द RANK करके आप GOOGLE ADSENSE के माध्यम से बहुत ज्यादा पैसा कमा सकें, तब आपको उसके अकॉर्डिंग स्किल्स होना बहुत ही आवश्यक है।

क्योंकि MICRO NICHE से रिलेटेड जब आप अकाउंट क्रिएट करते हैं, तो देखेंगे कि आपके पास एक समय के बाद ARTICLE लिखने की कैपेसिटी खत्म हो जाती है यदि आपकी क्रिएटिविटी अच्छी है, आपकी स्किल्स अच्छी हैं तो आप MICRO NICH पर वर्क करके हाई क्वालिटी पोस्ट पब्लिश करके आप उसे आसानी से बहुत अच्छी पोजीशन पर RANK करा सकते हैं, और वहां से बहुत अच्छा पैसा कमा सकते हैं। इसलिए आप अपनी स्किल्स डेवलप करके अपनी क्रिएटिविटी को इंप्रूव करके आप इस प्रकार के हो सकते हैं और अच्छा पैसा कमा सकते हैं।

आज के समय में बहुत सारे लोग BLOGGING की फील्ड में अपना करियर बनाना चाहते हैं, और BLOGGING को START कर भी रहे हैं। और कुछ लोग BLOGGING में अपना कैरियर बना चुके हैं और काफी पैसा कमा रहे हैं।

इस प्रकार से देख सकते हैं कि BLOGGING की FIELD में काफी ज्यादा कंपटीशन बना हुआ है, इसलिए यदि आज के समय में आप MICRO NICHE से संबंधित BLOG क्रिएट करके ब्लॉग्गिंग करते हैं तो आपको वहां से जरूर फायदा मिलेगा और BLOG, GOOGLE में या अन्य सर्च इंजन YAHOO, BING इत्यादि में जल्द से जल्द RANK करेगा और वहां से आपकी EARNING जल्दी से जल्दी START हो जाएगी। इसलिए आप MICRO NICHE से संबंधित BLOG पर फोकस करके उसे संबंधित BLOG START कर सकते हैं।

यह भी जाने :- ब्लॉगर और वर्डप्रेस में अंतर | Difference Between Blogger and WordPress

उम्मीद है दोस्तों MICRO NICHE से संबंधित यह पोस्ट आपको जरूर पसंद आई होगी और यदि आप भी MICRO NICHE से संबंधित किसी BLOG को START करना चाहते हैं, या BLOGGING की FIELD अपना कैरियर बनाना चाहते हैं और उससे संबंधित आपका कोई सवाल है यह सुझाव है तो आप हमें COMMENT कर सकते हैं और यदि यह ARTICLE आपको पसंद आया हो तो आप अपने दोस्तों के साथ या फिर अपने सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर से शेयर कर सकते हैं।

About creativecorners99

नमस्कार दोस्तों, www.creativecorners99.com पर आपका हार्दिक स्वागत है। Creativecorners99.com साईट का उद्देश्य अधिक से अधिक लोगो को रोचक जानकारियां उपलब्ध कराना है। इस साईट पर आप लोगो को धार्मिक, राजनितिक, स्वस्थ्य सम्बन्धी टिप्स, टेक्निकल टिप्स, मोबाइल्स और उससे सम्बंधित ऐप्स और सॉफ्टवर्स की जानकारियां, ब्लॉगिंग से जुडी जानकारियां, बिज़नेस आइडियास, विश्व स्तर की रोचक जानकारियां आसानी से मिलती रहेंगी। इतना ही नहीं आप भी इस साईट पर अपने ज्ञान का योगदान दे सकते हैं, Guest Post के जरिये। धन्यवाद

View all posts by creativecorners99 →

One Comment on “What is MicroBlogging or Micro Niche Blogging ? माइक्रो ब्लॉगिंग क्या है ?”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *